Brazil Diary


ब्राज़ील में पहले पहल मुझे पोर्तुगीस तो बोलनी आती नहीं थी - कई बार सामने वाला कई मिनट तक समझने की कोशिश करता रहता कि आखिर मैं कहना क्या चाहता हूँ - मैं अंगेजी में बोलता, पोर्तुगीस के एक दो शब्दों को बोलने की कोशिश करता, इशारे करता और सामने वाला व्यक्ति अपनी ताबड़तोड़ पोर्तुगीस बोलता रहता। इंटरनेट था नहीं - गूगल ट्रांसलेट इसलिए काम भी नहीं कर सकता था - एक छोटी सी डायरी थी जिसमे मैंने कुछ पोर्तुगीस लिख रखी थी। उसी से काम चलाने की कोशिश करता था - हालाँकि उस डायरी में हर शाम जब होटल/हॉस्टल लौटता तो नए शब्द और वाक्य जोड़ने की कोशिश करता। देखते देखते बहुत सारे शब्द और वाक्य हो गए - कई बात भूल भी जाता था। जब किसी दूकान से खरीदना रहता तो हॉस्टल/होटल में ही इंटरनेट पर एक बातचीत तैयार कर लेता और उसको डायरी में नोट कर लेता था - दुकान में घुसने से पहले मेरे झोले से डायरी निकल आती थी - मैं वाक्यों को दोहरा लेता था ताकि दूकानदार गुस्सा न हो - भाई दुकानदार तुम्हारे लिए थोड़े ही बैठा है - हालाँकि मॉडर्न स्टोर्स में ये समस्या सामने नहीं आती थी। पोर्टो अलेग्रे में पहुँचते ही मैंने खाने की दूकान पर जाने की ठानी - लेकिन वही समस्या भाषा की - अंदर गया तो पता चला कि सब पोर्तुगीस में लिखा हुआ है - न ब्रांड पता चले (कोका कोला को छोड़कर) और न ये पता चले कि डिब्बे में शाकाहारी चीज बंद है या मांसाहारी - इंग्लैंड या भारत की तरह न हरा निशान बना होता है और न अंग्रेजी में कुछ लिखा होता है - सब कुछ पोर्तुगीस में। कुछ भी नहीं दिखा - फलों के सिवाय। दो आम, कुछ केले और दो पैकेट चिप्स [वो तो कहो चिप्स के पैकेट पर चिप्स बने होते है नहीं तो वो भी नहीं खरीद पाता हा हा   ] खरीद कर वापस लौट आया। लौटकर सबसे पहला काम जो किया वो था - गूगल ट्रांसलेट में शाकाहारी और मांसाहारी का पोर्तुगीस संस्करण खोजना। फिर मक्खन और ब्रेड का भी ट्रांसलेशन देखा - कुछ नहीं तो carne (meat), legumes (vegetables), manteiga (butter), pao (bread) उसी दिन से ज़बान पर रट गए। जब भी मार्किट जाता - दुकानों, सडकों, होटलों, पोस्टरों पर लिखी पोर्तुगीस पढने की कोशिश करता और कुछ शब्दों को वही पर डायरी में नोट कर लेता। समय के साथ कुछ बेसिक वाक्य और शब्द सीख गया। कुछ नहीं तो सबसे पहले यही कहता कि मुझे पोर्तुगीस नहीं आती है - क्या आपको इंग्लिश आती है (इउ नाउ फालो पोर्तुगीस, वोसे फाला इंगलेस) - कम से कम दूकानदार यह समझ जाता था कि इस बन्दे से डील कैसे करना है। फिर या तो हम इशारों में बात कर लेते थे या फिर किसी तीसरे बन्दे की टूटी-फूटी इंग्लिश का सहारा लेते थे। पोर्तुगीस के बहुत से शब्द इंडो-यूरोपियन भाषाओँ जैसे संस्कृत, अंग्रेजी और हिंदी से बहुत हद तक मेल खाते हैं उदाहरण के तौर पर एयरपोर्ट तो aeroporto लिखते हैं, edificio (बिल्डिंग) अंग्रेजी में edifice (ऊँची इमारत) से पूरी तरह से मिलता जुलता है। कुल मिलाकर नयी भाषा सीखने के लिए इस ट्रिप ने काफी उत्साहित किया है। मुझे लगता हैं कि पोर्तुगीस सीखने की कोशिश जारी रखनी चाहिए।